सरिता की उसके फार्म हाउस में कड़क चुदाई

हैल्लो दोस्तों.. मेरा नाम सूरज है और में नागपुर में रहता हूँ. मेरी लम्बाई 5.7 है.. में नागपुर में कॉलेज का स्टूडेंट हूँ. दोस्तों में आपको एक ऐसी कहानी बताने जा रहा हूँ.. जो कि पूरी सच्ची है. हम 4 स्टूडेंट थे और हमारे कॉलेज की छुट्टियां लगी हुई थी.. तो हमने डिसाईड किया कि हम घर नहीं जायेंगे.. हम यही नागपुर में रहेंगे और एन्जॉय करेंगे. तो दोस्तों हम नागपुर में ही रुक गये. हमें कुल 15 दिन की छुट्टी थी.. ये दिन हमे पूरी तरह से एन्जॉय करना था.

तो दोस्तों हम सब एक दिन घूमने गये और हम थोड़ा बहुत घूमने के बाद एक बीयर बार में बैठ गये और हमने बियर पी. में वैसे ज्यादा बियर नहीं पीता.. लेकिन पार्टी में पी लेता हूँ. हम सब बार में ड्रिंक करने के बाद बाहर आये.. तो हम मेन रोड़ के साईड में थे.. तो मेरे एक दोस्त की लॉटरी की शॉप दिख गई.. जो कि ऑन-लाईन गोल्डन लॉटरी थी और हम पैसे कमाने लॉटरी शॉप में चले गये. वहां टाईम कैसे निकल जाता था.. पता ही नहीं चलता था.

उसके पास में सिनेमा घर था.. तो बीच में हम वहां भी चले जाते थे. जब में लॉटरी की शॉप के बाहर खड़ा था.. तो वहां एक पुलिस वाला कार को लॉक लगा रहा था.. क्योंकि वो गाड़ी नो-पार्किंग एरिया में खड़ी हुई थी और में उस गाड़ी के पास ही खड़ा था.

थोड़ी देर बाद वहां एक औरत आई.. उसके साथ एक 6 साल का लड़का भी था.. क्या औरत थी यार कमाल की. उसने जींस पेंट और सलवार टॉप पहना था और उसकी स्किन टाईट थी.. जिससे उसकी गांड बाहर निकलकर दिख रही थी और बूब्स इतने बड़े थे कि मन कर रहा था कि बस अब जाकर पूरी तरह से मसल दूँ. वो बहुत गोरी थी और ऐसा लग रहा था कि वो किसी हाई प्रोफाईल अमीर फैमिली की मेंबर हो.

फिर जैसे ही वो गाड़ी के पास आई.. तो उसने देखा कि उसकी गाड़ी को लॉक लगा हुआ है. हैल्लो.. ये लॉक किसने लगाया.. उस औरत ने मुझसे पूछा.. में खुद को लकी महसूस कर रहा था कि उसने मुझसे पूछा. फिर मैंने उनसे बोला कि मेडम वो पुलिस वाले आये थे.. आपकी गाड़ी नो पार्किंग एरिया में थी तो वे इसे लॉक लगा गये.. वो घबरा गई और उसके चेहरे पर घबराहट साफ नज़र आ रही थी.. तो मैंने उनसे कहा कि घबराओ मत वहां एक पुलिस वाला है उनसे पूछो.. वो अपने लड़के के साथ उस पुलिस से पूछने चली गई.

जब मेरी पुलिस की गाड़ी पर नज़र गई.. तो मैंने मेडम को आवाज़ लगाई और उनके पीछे चला गया और मेडम से बोला कि वो पुलिस की गाड़ी वहां है.. वो गाड़ी निकलने ही वाली थी कि में तुरंत उसके पीछे भागा और उस गाड़ी को रुकवाया और पुलिस से बोला कि उस गाड़ी को लॉक लगा हुआ है प्लीज.. उसे खोलो.

जब तक वो मेडम अपने बच्चे को लेकर उस गाड़ी के पास आ गई थी. फिर पुलिस वाले ने उस मेडम को गाड़ी में बैठने को कहा.. मेडम बैठ गई और फिर उसने मुझे भी बैठने को कहा.. क्योंकि में भागकर बहुत थक गया था.. हम गाड़ी में बैठ गये. में मेडम के बगल में बैठ गया.. उसकी बॉडी मुझसे टच हो रही थी. मुझे उसकी बॉडी का एहसास हो रहा था और जगह कम होने की वजह से उसकी जींस पेंट में से उसकी गांड बाहर आ रही थी और एक साईड से जी स्ट्रिंग पेंटी पहने हुए साफ दिख रही थी.. वाह क्या नजारा था.

Chudai ki kahaniya  गर्लफ्रेंड की चुत की पहली चुदाई की कहानी

हम फिर उस मेडम की गाड़ी के पास आ गये.. पुलिस वाले ने वो लॉक खोल दिया और पुलिस ने उससे 1000 रुपये जुर्माना माँगा.. तो मेडम ने मुझसे बोला कि बहुत ज्यादा है.. प्लीज कुछ कम करवाओ. फिर मैंने बोला कि मेडम दवाई लेने गई थी.. उनके पति बीमार है. फिर मैंने झूठ बोल दिया और मेडम ने भी पुलिस को हाँ बोल दिया.. तो पुलिस भी मान गई और उसने छोड़ दिया.

अब मेडम रिलेक्स तो हो गई थी.. थैंक्स आप नहीं होते तो शायद मुझे यहाँ बहुत इंतजार करना पड़ता.. अरे ईट्स ओके थैंक्स किस बात की.. ये तो मेरा फ़र्ज़ था और आपकी जगह कोई भी होता.. तो में यही करता. फिर मैंने उनसे ऐसा कहा कि वो खुश हो गई.. उसने पार्किंग एरिया में गाड़ी लगाई और वो मॉल में शॉपिंग के लिए जा रही थी. तभी उसने मुझे आवाज़ दी.. ‍‌हैल्लो.. में पलटा और देखा कि वो मेडम मुझे आवाज़ लगा रही है. में उनके पास गया और बोला हाँ मेडम अब क्या काम है? तो उसने बोला कि क्या हर बार काम ही रहेगा क्या? में कुछ समझा नहीं था कि वो क्या बोलने जा रही है.

फिर उसने बोला क्या तुम मेरे साथ शॉपिंग करने चलोगे.. तो मेरे मन में लड्डू फूटने लग गये और मैंने हाँ कर दिया. उसके साथ उसका लड़का था.. तो वो मुझसे खुलकर बातें नहीं कर सकती थी. उसने मुझसे मेरा नाम पूछा. फिर मैंने मेरा नाम बताया और उसने उसका नाम सरिता बताया. हम एक शोरुम में गये.. उसको वहा से जींस लेनी थी.

फिर हम जींस देखने लग गये.. वहां शॉप का एक वर्कर आया और उसने हमसे कहा कि कोई हेल्प चाहिये.. तो मेडम ने उससे कहा नहीं.. हम जींस पेंट लेने आये है.. हम ही पसंद कर लेंगे और वो चला गया और हम जींस पेंट देखने लगे. मेडम ने कुछ पेंट देखी. उसने मुझसे कहा कि सूरज ये जींस कैसी है.. तो मैंने कहा अच्छी है.. आपको आ जायेगी.

फिर मैंने उनसे कहा कि आपकी साईज़ क्या है? उसने मुझसे कहा 38 है.. तो मैंने कहा वाह क्या साईज है.. हाँ फिर तो आ जायेगी. फिर हम जींस पेंट लेकर बाहर आ गये.. हमने कुछ आईसक्रीम और कोल्ड ड्रिंक पी और बिल उसने ही दिया था.

फिर हम पार्किंग में चले गये.. उसने मुझे थैंक्स कहा और मैंने उनसे पूछा कि मेडम क्या हम दोस्त बन सकते है? उसने मुझसे कहा ये भी कोई पूछने की बात है.. हम पहले से ही दोस्त है. हमने हमारा नम्बर एक्सचेंज किया और उसने बोला कि में आपको कॉल करूँगी. फिर उस रात को उसका मुझे कॉल आया. उसने मुझसे बोला हैल्लो.. हाँ सरिता मेडम बोलो.. उसने बोला कॉल में सिर्फ सरिता नोट मेडम. फिर मैंने कहा ओके सरिता.. उसने कहा कि मुझे शॉपिंग करनी है.. मेरे साथ चलोगे?

Chudai ki kahaniya  बरसात की हसीन रात

मैंने कहा कि हाँ जरुर.. में तो तैयार हूँ आपकी सेवा में और वो हंसने लग गई और नॉटी कहकर मुझसे बोली कि ठीक है में 3 बजे दोपहर में आपको लेने आउंगी. फिर मैंने भी उनसे बोला सरिता तुम मुझे भी तो नाम से पुकार सकती हो.. तो उसने कहा कि ओके बाबा सूरज और दूसरे दिन वो अपनी होंडा सिटी कार में मुझे लेने आई.. वो उस समय अकेले ही थी. मैंने उनसे कहा आपका लड़का नहीं आया.. तो उसने कहा कि तुम्हे मेरे साथ आना है या मेरे बेटे के साथ और हम हंसने लग गये और मैंने बोला आज का क्या प्रोग्राम है.. क्या शॉपिंग करनी है? उसने बोला मुझे बिकनी लेनी है.. अच्छी और महंगी. में मन ही मन में खुश होने लगा.

फिर हम एक अच्छी शॉप में गये.. सरिता उस शॉप की रेग्युलर ग्राहक थी और वो उसके दोस्त की ही थी.. जिसका नाम राधा है. हम शॉप में गये और राधा को उसने गले से लगाया और फिर सरिता ने बोला मुझे बिकनी चाहिये.. तो उसने एक रूम का ईशारा किया और सरिता वहां जाने लगी.. में बाहर ही रुका हुआ था.. तो सरिता ने कहा चलो ना सूरज क्या हुआ और में भी उसके पीछे चला गया. मैंने अंदर जाकर देखा कि उस रूम में अलग अलग डिज़ाईन वाली बिकनी लगी हुई थी और चारो तरफ कांच लगे हुये थे. हम जैसे ही अंदर गये.. तो सरिता ने दरवाजा बंद कर दिया और बोला कि अब में आराम से बिकनी चेक कर सकती हूँ.. कोई मुझे देख नहीं सकता. फिर मैंने कहाँ में तो हूँ यहाँ.. तो उसने कहा तुम तो मेरे अच्छे दोस्त हो ना. फिर उसने एक नॉर्मल बिकनी ली और उसे ट्राई करने लगी.. उसने पहले अपनी जींस पेंट उतारी.. जो हमने कल खरीदी थी.

फिर उसने अपना टॉप निकाला.. में तो देखते ही परेशान हो गया था.. क्या बूब्स थे और क्या गांड थी उसकी.. क्या बताऊँ? दोस्तों मज़ा आ गया. फिर उसने एक टॉवल लिया और टॉवल लपेटकर वो चेंज करने लगी. फिर उसने कहा कि कैसी है ये बिकनी.. मैंने उससे कहा कि में पसंद करके दूँ.. तो उसने हाँ बोला. फिर मैंने उससे कहा कि पहले मुझे आपकी बॉडी का परफेक्ट शेप लेना होगा.. उसने कहा ओके. मैंने एक मेजरमेंट टेप ली और उससे बोला कि मुझे परफेक्ट साईज लेने के लिये आपकी ये बिकनी निकालनी होगी. फिर उसने थोड़ा सोचने के बाद बिकनी उतार दी.. मैंने उसको कहा कि आपका फिगर तो लाजवाब है.. उसने कहा मेनटेन करना पड़ता है. उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था.. मैंने उसकी फिगर साईज़ ली और में टेप लगाते वक़्त उसके बूब्स को थोड़ा ज्यादा ही प्रेस कर रहा था. फिर मैंने उसे एक टिनी बिकनी दी और बोला कि ये ट्राई करो.. उसने वो ट्राई की. दोस्तों आपको तो पता ही है कि टिनी बिकनी कैसी होती है.

उसके सिर्फ़ बूब्स और चूत ही ढके हुये थे और उसको वो बिकनी अच्छी लगी और उसने कहा क्या पसंद है औरतो की.. कहाँ से सीखा. फिर मैंने बोला कि ये मेरा फर्स्ट टाईम था.. ओह उसने कहा. फिर तो तुम सेक्स करना भी अच्छे से जानते होंगे. अब वो फुल मूड में आ चुकी थी.. तो मैंने कहा कि कभी ट्राई नहीं किया. फिर उसने कहा कि चलो मेरे फार्महाउस पर चलते है. फिर मैंने कहा आपके घर के लोग इंतज़ार करेंगे..

Chudai ki kahaniya  हॉट लड़की की चुदाई

वो बोली कि में उनको फोन कर दूँगी. फिर हम शॉप से निकलने के बाद फार्महाउस चले गये.. वहां कोई नहीं रहता था. उसने दरवाजा खोला और हम अंदर आ गये. उसने पूछा क्या लोगे? मैंने कहा कि पानी वो भी चूत का.. वो मुस्कुराई और बोली चल स्टुपिड. फिर वो पानी लेने किचन में चली गई. पानी पीने के बाद उसने बोला कि मेरी चूत का पानी पीना चाहता है. फिर मैंने कहा हाँ तो उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिये और बोला कि ये लो पी लो.

मैंने उसे मेरी तरफ खींचा और बोला आज में तुझे बताऊंगा कि सेक्स क्या होता है. उसने बोला करो जो करना है और बना दो मुझे रांड.. में उसे क़िस करने लगा. फिर 15 मिनट किस करने के बाद उसने मेरे कपड़े निकाल दिये और उसने मेरा लंड देखा और बोली तेरा तो लंड स्टील रोड जैसा टाईट हो गया है जान.. जब ये तेरी चूत में जायेगा.. तो पता चलेगा.

फिर में उसकी चूत में मेरा लंड डालने लगा.. 2-4 झटको के बाद मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया. वो चिल्लाने लगी.. जल्दी निकालो इसे.. मुझे बहुत दर्द हो रहा है. फिर मैंने बोला ले तुझे रांड़ बनने का शौक है ना.. अब ले और उसे में ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लग गया.. वो चिल्लाने लगी. फिर 20 मिनट के बाद में झड़ गया.. वो 2 बार झड़ गई थी.

फिर मैंने मेरा माल उसकी चूत में डाल दिया और फिर उसको मैंने मेरी स्पेशल 8 तरह की स्टाईल में चोदा. फिर हम स्विमिंग पूल में नहाने गये.. स्विमिंग पूल में मैंने उसकी गांड मारी.. वो पहले मना करने लग गई.. लेकिन फिर मैंने उसे मना लिया. मैंने लंड जैसे ही उसकी गांड में डाला.. तो वो चिल्लाने लगी.. आआहह्ह्ह्ह और मेरा साथ देने लगी और वो बोल रही थी और ज़ोर से और ज़ोर से. फिर मैंने मेरी स्पीड तेज कर दी. अब मेरा पानी निकलने वाला था और मैंने मेरा पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

उसने बोला ऐसा सेक्स मैंने कभी नहीं किया.. थैंक्स सूरज.. तुम बहुत अच्छे बॉय हो. फिर हम स्विमिंग पूल से बाहर आ गये और फिर हम अंदर हॉल में चले गये.. हम नंगे ही थे और हमने कपड़े नहीं पहने थे. उसने बोला कि ऐसे ही बैठो.. तो फिर वो सोफे पर मेरे बगल में बैठ गई और मेरे लंड से बोल रही थी कि छोटे सूरज मुझे छोड़कर कभी नहीं जाना.. मेरे पास ही रहना. में उसके बूब्स दबा रहा था और फिर हमे कब नींद लग गई.. पता ही नहीं चला.

फिर सुबह मेरी नींद खुली.. तो सरिता ने बोला कि चलो अब हमे जाना चाहिये.. घरवाले मेरा इंतजार कर रहे होंगे. फिर उसने मुझे मेरे घर के पास छोड़ा और उसने मुझे 2000 रूपये दिये और बोली कि अगले रविवार को तैयार रहना और वो चली गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *