चूत की बरसात

मेरे प्यार प्रिय पाठकों आप सभी को मेरे लंड की और सादर प्रणाम |

मेरा नाम आदित्य है और मैं सतना का रहने वाला हूँ, दिखने में मैं गोरा हूँ और ढाढ़ी रखता हूँ, क्यूंकि मैं फैशनेबल लौंडो में से हूँ | मेरी उम्र अभी 24 साल है, और फिलहाल तो मैं बेरोजगार हूँ और जॉब ही ढूंढ रहा हूँ | दोस्तों, मैं बहुत बड़ा वाला बटेरबाज हूँ और हर दिन चूत की तलाश में रहता हूँ | मैं दिखने में स्मार्ट भी हूँ और पैसा भी रहता है मेरे पास और यही वजह है कि मैं बहुत जल्दी कोई भी लड़की पटा लेता हूँ | चलिए मैं आप लोगों को ज्यादा इंतज़ार नहीं करता और सीधा अपनी कहानी चालु करता हूँ |

ये घटना पिछले साल कि है जब मैं कलकत्ता जा रहा था | मैं अपने बैग में ज्यादा सामान नहीं रखता हूँ तो मैं स्टेशन में ही था और इंतज़ार करने लगा ट्रेन का क्यूंकि ट्रेन एक घंटा लेट थी | ठंड का टाइम था ओर रात के 11 बज रहे थे कुछ ही लोग उस वक़्त थे वहाँ पर | मैं ऐसे ही टहल टहल कर अपना समय बिता रहा था तो मुझे एक लड़की दिखाई दी उसका नाम अनीता था और वो अकेली बैठी थी तो मैंने सोचा कि क्यूँ न इसे पटाया जाये | ठंड का मौसम और ऐसे मौसम में शबाब का मजा मिल जाये तो आहा मजा ही मिल जाता है | तो फिर मैं उसके पास गया और उससे ऐसी ही नार्मल बात करने लगा तो जब उससे बात शुरू हुई तब मुझे पता चला कि उसे पेसो की जरूरत थी | पर उसके पास पैसे नहीं थे वो जॉब करती थी जिससे उसे महीने के 7000 मिलते थे | तो मैंने उससे कहा कि तुम मेरे साथ सेक्स कर लो तो मैं तुम्हे अभी तुरंत में 7000 दे दूंगा | बहुत देर तक वो सोचने लगी फिर मैंने उससे कहा कि जल्दी करो टाइम नहीं है मेरे पास क्यूंकि ट्रेन का टाइम हो चूका है और कभी वो आ सकती है तो फिर वो तैयार हो गयी थी | फिर मैं उसे एक खाली जगह पर ले गया था जहाँ पर एक कोठरी थी वहाँ मैंने उसे पैसे दिए और उसे किस करने लगा था उसके होंठो पे और वो भी मेरे होंठ को चूस रही थी |

Chudai ki kahaniya  चूत के रस ने बुझाई लंड की आग

किस करने के बाद मैंने उसके टॉप को उतारा और उसकी ब्रा को ऊपर करके जोर जोर से चूसने लगा और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगी मैं बहुत जल्दी जल्दी और जोर जोर से चूस रहा था और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | फिर मैंने उसे अपना लंड चूसने को कहा तो वो घुटने के बल बैठ के मेरा लंड चूसने लगी फिर मेरा लंड चूसने और चाटने के बाद मैंने उसे घोड़ी बना दिया | उसकी जीन्स और पेन्टी को नीचे की तरफ कर दिया और उसकी चूत में हाँथ फेरने लगा उसकी चूत में हलके हलके बाल थे | फिर मैं उसकी चूत में अपना लंड डाल कर उसे चोदने लगा और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगी | मैं उसके मुंह में हाँथ रख लिया कि जोर जोर से ये न चिल्लाये | और फिर जल्दी जल्दी धक्के दे दे के उसे चोद रहा था और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | फिर मैं उसकी गांड में अपना माल गिरा दिया था फिर हम दोनों वापस स्टेशन आए और ट्रेन भी आ चुकी थी | तो मैंने उसे कहा कि अब मैं निकलता हूँ और उसने मुझे थैंक्स भी कहा |

मैं ट्रेन में चढ़ गया और अपनी सीट पर बैठ गया तो मैंने ऊपर की तरफ देखा वहाँ पर एक 19 साल की लड़की थी और वो भी अकेली थी | मेरे मन में तो लड्डू फूटने लगे कि अगर इसकी चूत मारने मिल जाये तो मजा ही आ जायगा | तो थोड़ी देर के बाद एक अंकल आंटी आए और मुझे पूछी कि आपकी सीट कहा है तो मैंने उन्हें बताया कि आंटी मेरी सीट नीचे है | तो वो मुझसे रिक्वेस्ट करने लगी कि बेटा मेरे पेरो में तकलीफ है थोड़ी तो क्या तुम मेरी सीट ले सकते हो और मैं तुम्हारी ? तो मैंने कहा हाँ आंटी कोई बात नहीं है आप ले लीजिये फिर इतना कह कर मैंने अपना बैग ऊपर रख दिया और ऊपर वाली सीट पर चला गया | फिर ऐसे ही मैं उस लड़की से बात करने लगा उसका नाम रिया था | वो भी बहुत अच्छे से मुझे हर बात का जवाब दे रही थी तो मैं उसकी तारीफ़ करने लगा ताकि वो मुझसे पट जाये | मैंने उससे पुछा की तुम्हे पॉकेट मनी कितनी मिलती है ती उसने जवाब दिया कि बस 2000 ही मिलती है तो मैंने उससे कहा कि अगर मैं तुम्हे 5000 दूं तो क्या तुम मेरा एक काम करोगी ? तो वो तुरंत ही हाँ बोल दिया | मैं समझ गया था कि ये चुदासी है बहुत तो मैंने उससे कहा कि मेरे साथ सेक्स कर लो तो मैं अभी तुम्हे पैसे दे दूंगा तो उसने कहा ठीक है और वो तुरंत राज़ी हो गयी | तो फिर मैंने उससे कहा की जब सब सो जायगे तो मैं तुम्हारी सीट पर आ जाऊंगा तो उसने हाँ में सिर हिला दिया और फिर हम सबके सोने का वेट करने लगे | रात के 2 बज गए थे तो फिर रिया ने मुझे जगाया और आने का इशारा की तो मैं ऊपर ही ऊपर से उसकी सीट पर चला गया और हम दोनों ने कम्बल ओढ़ लिया फिर मैं और वो दोनों एक दूसरे की किस करने लगे थे और वो भी बहुत अच्छे तरह से मेरे होंठ को चूस रही थी | मैं उसे किस करते हुए उसके दूध मसल रहा था उसके बाद मैंने उसके टॉप को ऊपर किया और ब्रा खोल कर उसके दूध पीने लगा और वो हलकी हलकी आवज़ में अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी |

Chudai ki kahaniya  मेरी पत्नी और बाबाजी

फिर उसके बाद मैं हम दोनों 69 एंगल में हो गए थे अब वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसकी चूत को चाट रहा था | उसकी चूत पे बाल बहुत थे पर मुझे चूत चाटना बहुत पसंद है तो मुझे फर्क नहीं पड़ रहा था | जब वो मेरे लंड को मुंह में ले कर चूस रही थी तो मैं भी हलकी हलकी आवज़ में अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ सिस्कारिया ले रहा था | जब मैं उसकी चूत चाट रहा था तब वो भी अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | 10 मिनट ऐसे हम दोनों चूस और चाट रहे थे | फिर मैंने उसे अपने बगल में लेटाया और उसकी एक टांग उठा कर उसकी चूत के छेद से अपना लंड मिला रहा था | फिर जब मुझे अपना लक्ष्य मिल गया तो मैं अपना लंड उसकी चूत में लंड डाल कर चोदने लगा और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | मैं जोर जोर से धक्के मार मर के उसकी चूत चोद रहा था और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | फिर उसने मुझसे कहा कि मेरी गांड भी मारो तो मैं उसकी चूत मारने के बाद उसकी गांड में लंड डाल कर उसे चोदने लगा और वो मजे से अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करे जा रही थी और मैं उसकी गांड में ही अपना माल छोड़ दिया था |

Chudai ki kahaniya  मोनिका मिश्रा की कुंवारी चूत

फिर हम दोनों सो गये फिर जब मैं कलकात्ता पंहुचा तो सबसे पहले चकला घर गया और वहीँ एक रंडी को चोदा उसके बाद मैंने होटल में रूम लिया | मैं आराम करने लगा मुझे बहुत जोर की नींद आ रही थी.

दोस्तों ये थी मेरी कहने मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगों को मेरी ये कहानी बहुत पसंद आई होगी और आप सभी ने बहुत एन्जॉय भी किया होगा मेरी कहानी को | तो दोस्तों मैं आगे भी आप लोगों के मनोरंजन के लिए ऐसी मजेदार कहानियां लिखता रहूँगा ओर अपने प्रिये पाठको का मनोरन्जन करता रहूँगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *